Man Crocodile Friend
भारत

अपने दोस्त मगरमच्छ के लिए इस आदमी ने अपना पूरा गाँव तबाह कर दिया !

एक गड्ढा था। धीरे धीरे वो बढ़ता गया। फिर बारिश से थोड़ा- थोड़ा भरते-भरते गड्ढा तालाब बन गया। फिर उस तालाब में जलीय पौधे लगने लगे। धीरे -धीरे उस तालाब में मछलियाँ, बतख और बहोत […]

Narendra Modi and Nawaz Sharif
कविता

कविता: ये सरकार नहीं, ये जुमलेबाजों की फ़ौज है!

उन वायदों क्या हुआ ? उन इरादों क्या हुआ ? क्यों 56 इंच नदारद है ? उन बड़बोलों का क्या हुआ ? क्यों आज हो मुह छुपाये बैठे, क्यों आज हो मुह छुपाये बैठे , कहाँ […]

Narendra Modi roaring
कविता

सत्ता की चाह

सुर बदले, तेवर बदले, सब शंखनाद क्यों बंद हुए, छप्पन इंची सीने वाले भाषण भी क्यों मंद हुए, केसर की क्यारी में तुमने कमल खिलाया अच्छा है, और नमाज़ी कस्बों में भगवा लहराया अच्छा है। […]

dhaporshankh
राजनीति

ढपोरशंख

इस कहानी के सभी पात्र और घटनाये कल्पनिक है। इसका मोदी से कोई सम्बन्ध नहीं है। कथित या अकथित रूप से यदि मोदी से कोई समानता मिलती है तो इसे मात्र एक संयोग कहा जायेगा। […]

Modi with Nawaz
कविता

तुम चार सिर कब लाओगे?

पिछले साल 56 इंच के सीने का दवा करने वाले महा फेकू श्री श्री नरेन्र्द भाई मोदी आज कल जरा बीजी हैं, और उनकी पार्टी के कार्यकर्ता जो सरहद पर जाने को तैयार थे, आज […]

विकास की अभिलाषा
कविता

‘विकास’ की अभिलाषा

चाह नहीं मैं भारत के अन्य राज्यों में पाया जाऊं, चाह नहीं मैं GDP -NDP किसी से तोला जाऊं, चाह नहीं किसी इंडेक्स पर पहले आऊँ, चाह नहीं मैं अन्य किसी के पास दिखूं, भाग्य पर इठलाऊँ, […]