केजरीवाल का तंज- “मोदी के 5 साल झेल नहीं पाए, इसलिए चल बसे अटल जी”

आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर मोदी पर हमला बोला है। केजरीवाल ने मोदी पर तीखा हमला करते हुए कहा है कि मोदी राज्य में लोगों का रहना दुर्भर हो रहा है। इसका ताजा उदाहरण अटल बिहारी वाजपेयी जी है जो अब तक मृत्यु शैय्या पर लेटे हुए थे लेकिन जब मोदी के पूरे 5 साल भी वो झेल नहीं पाएँ इसलिए चल बसे।

अरविन्द केजरीवाल ने यह ताजातरीन विवादित बयान संवाददाताओं से खचाखच भरे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिया
अरविन्द केजरीवाल ने यह ताजातरीन विवादित बयान संवाददाताओं से खचाखच भरे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिया

केजरीवाल के इस तीखे हमले से बौखलाई बीजेपी के तरफ से संबित पात्रा ने केजरीवाल से सवाल पूछते हुए कहा कि “क्या अब इस देश में हिंदुओं को मरने का भी अधिकार नहीं है?” सुन ले केजरीवाल श्मशान वहीं बनाएंगे।

केजरीवाल के हमले का असर मोदी जी पर भी हुआ इसलिए उन्होंने बिना नाम लिए केजरीवाल के लिए एक ट्वीट किया। ट्वीट में मोदी ने लिखा कि “आहत, निशब्द हूँ …लोगों को धीरे-धीरे सच्चाई समझ आने लगी”।

हालाँकि इस ट्वीट में कहीं भी केजरीवाल का जिक्र नहीं है लेकिन केजरीवाल के ऊपर ये ट्वीट इसलिए बताया जा रहा है क्योंकि मोदी ने इस ट्वीट में केजरीवाल को टैग करने की गलती कर दी।

बात करें अन्य विपक्षी पार्टीयों की तो ममता ने केजरीवाल के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि अटल जी उनके बहुत करीब थे और जब वो अटल जी से मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद मिली तो अटल जी ने उनसे कहा था कि मोदी अब और झेला नहीं जाता है यार। जिसके लिए उन्होंने देश में बढ़ रही महंगाई, गिरती अर्थव्यवस्था और स्तरहीन होती राजनीति का हवाला दिया था।

गौरतलब है कि अटल जी लोकप्रियता देखते हुए सभी पार्टियाँ उन्हें अपने-अपने हिसाब से उपयोग कर रही है। 2019 के चुनाव को देखते हुए विपक्ष अटल के बहाने मोदी पर निशाना साधने में कोई कमी नहीं कर रही है।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Shubham
About Shubham 230 Articles
कुछ नहीं से कुछ भी बनाने की कला।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.