​पाकिस्तान से मसला हल ना होता देख सनी देओल को विदेश मंत्री बना सकते हैं मोदी

मोदी जी को उम्मीद है कि जैसे सनी देओल ने हैंडपंप उखाड़ कर पाकिस्तान में ही पाकिस्तानियों की धुलाई की थी, वही चमत्कार अब वो वास्तविकता में कर के दिखायेंगे।

एयरोप्लेन: जम्मू और कश्मीर में मचे उथल-पुथल, पाकिस्तान के साथ कोई शांति-वार्ता ना होता देख, और ‘कड़ी निंदा’ के बेअसर होने के बाद मोदी सरकार अपने कैबिनेट में एक और बड़ा महत्पूर्ण बदलाव करने जा रही है।

दरअसल विश्वस्त सूत्रों से खबर मिली है कि मोदी सरकार अभी तत्काल प्रभाव से अपने कैबिनेट में वर्तमान विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को हटाकर सनी देओल को विदेश मंत्री बना सकती है।

Sunny Deol Handpump scene from Gadar movie Pakistan
भारत के नए विदेश मंत्री अपना पद और कार्यभार पाकिस्तान में ऐसे संभालेंगे।

मामले के जानकार बता रहे हैं कि सनी देओल की ग़दर फिल्म से उत्साहित हो कर ये फैसला लिया गया है।

मोदी जी को उम्मीद है कि जैसे सनी देओल ने चापाकल (हैंडपंप) उखाड़ कर पाकिस्तान में ही जा कर पाकिस्तानियों की धुलाई की थी, वैसे ही चमत्कार अब वो वास्तविकता में भी कर के दिखायेंगे।

सूत्र बताते हैं कि नरेंद्र मोदी आजकल सुषमा स्वराज से खफा चल रहे हैं। जिस तरह उन्होंने स्मृति ईरानी को मानव संसाधन मंत्री के पद से हटा कर कपड़ा मंत्रालय का प्रभार सौंपा था, उसी तरह सुषमा स्वराज को विदेश मंत्री के पद से हटा कर आपदा प्रबंधन का प्रभार सौंपा जा सकता है।

इसके पीछे की मुख्य वज़ह ये बतायी जा रही है कि सुषमा स्वराज ने मोदी से पूछ लिया था कि जब वो विदेश मंत्री हैं तो बार-बार मोदी जी ही क्यों विदेश जाते हैं! क्या यही अच्छे दिन हैं उनके?

इसी बात पर मोदी जी भड़क गए, और सुषमा स्वराज को जल्द ही विदेश मंत्री के कार्यालय से छुट्टी कर आपदा प्रबंधन कार्यालय दे दिया जाएगा।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Shubham
About Shubham 232 Articles
कुछ नहीं से कुछ भी बनाने की कला।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.