अजय देवगन ने विमल पान मसाले के विज्ञापन पर मांगी माफ़ी

बॉलीवुड अभिनेता अजय देवगन ने विमल पान मसाले का विज्ञापन करने के लिए सार्वजनिक तौर पर माफी मांगी है, उन्होंने दलील दी कि ऐसा उनसे अंजाने मे हो गया।

विमल पान मसाले का ऐड तो आपने जरूर देखा या सुना होगा, जिसमें अजय देवगन विमल पान मसाला खाते हुए कहते हैं- “इसके दाने-दाने में है केशर का दम!”

Ajay Devgan Speaking to Teekhi Mirchi
फ़ोटो: अजय देवगन अपनी गलती पर खेद प्रगट करते हुए.

यहाँ पर एक बहुत बड़ी गलती हुयी है, जिसके लिए अजय देवगन ने आज सार्वजानिक तौर पर माफी मांगी।

दरसअल विमल पान मसाले के एड में जो लाइनें लिखनी थीं वो इस प्रकार थी, “विमल पान मसाला, इसके दाने-दाने में है कैंसर का दम!” लेकिन गलती से टाइपिंग में ‘कैंसर’ की जगह ‘केशर’ लिखा गया।

अजय देवगन खुद मानते हैं कि उन्होंने उस ऐड को करने के लिए कोई फीस नहीं ली थी, क्योंकि उनको लगा कि ये ऐड सामाजिक कल्याण के लिए बनाया गया है, जिसका उद्देश्य समाज में पान मसाला और अन्य धूम्रपान से होने वाली बीमारियों से आगाह करना था।

लेकिन स्क्रिप्ट राइटर की एक गलती के कारण लोगों में इसका क्रेज बन गया। अजय को अपनी गलती का अहसास तब हुआ जब खुद विमल पान मसाला खाने से उनकी तबियत खराब हो गयी, और ICU तक में भर्ती होने की नौबत आ गयी।

इधर अजय के विरोधी इसे सोची समझी रणनीति बताते हैं। उनका मानना है कि अजय देवगन को सारी बातें पहले से पता थीं, लेकिन अब वो जानबुझ के अपनी सामाजिक छवि बनाना चाह रहे हैं, ताकि उन्हें भी कोई सामाजिक भलाई वाला काम मिल जाये।

मार्केटिंग एक्सपर्ट मानते हैं कि ऐड के बहाने वो चमक भी गये, और अब माफ़ी मांग कर कोई सामाजिक कामों वाला पुरस्कार या सरकारी विज्ञापन मिल जाता है, तो वही बात हो जायेगी, “आम के आम…गुठलियों के दाम”।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Shubham
About Shubham 232 Articles
कुछ नहीं से कुछ भी बनाने की कला।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.