आमिर खान ने कांग्रेस नेता A.K. एंटोनी को गजनी समझकर पीटा, ICU में भर्ती

आज सुबह ही रील-लाइफ एक्शन को रियल-लाइफ एक्शन बनते तब देखा गया, जब आमिर खान ने कांग्रेस नेता AK अंटोनी को गजनी फिल्म का खलनायक समझकर पीट डाला।

अगर आपकी भी सूरत किसी फ़िल्मी खलनायक से मिलती-जुलती है तो सावधान हो जाइए, क्योंकि आज सुबह ही रील-लाइफ एक्शन को रियल-लाइफ एक्शन बनते देखा गया। जैसा कि हर फ़िल्म के क्लाइमेक्स में होता है- विलन की जोरदार पिटाई, वही हुआ। लेकिन निशाने पर इस बार कोई प्रेम चोपड़ा, अमरीश पूरी या शक्ति कपूर नहीं, बल्कि वरिष्ट कांग्रेसी नेता ए. के. अन्टोनी थे।

A K Antony and Pradeep Rawat in Ghajini
AK अंटोनी और गजनी फिल्म का खलनायक प्रदीप रावत.

हुआ ये कि आमिर खान सत्यमेव जयते की शूटिंग से पहले ग्लिसरीन का कार्टन खरीदने शॉपिंग मॉल आये थे। जी हाँ, ये वही ग्लिसरीन है, जिसे आँख में झोंक के सारे एपिसोड में वो अश्रु-धारा बहाकर वाह-वाही लूटते आये हैं। जैसे ही आमिर खान बिलिंग काउंटर पर आये, वो क्या देखते हैं कि बगल वाले क्यू में ए. के. अंटोनी सफ़ेद लुंगी पहने कॉमिक्स, कार्टून और गेम की सीडियों की बिलिंग करा रहे थे, जोकि कांग्रेस चुपाध्यक्ष् राहुल गांधी ने उनसे मंगवाया था।

फिर क्या था, उन्हें देखते ही आमिर खान को पता नहीं क्या हो गया वो अपनी शर्ट फाड़कर आग बबूला हो गए और गजनी-गजनी चिल्लाते हुए किंग-कोंग जैसा एक्शन करने लगे, थोड़ी ही देर में वो अन्टोनीजी पर झपट पड़े। अन्टोनी को उन्होंने इतनी बुरी तरह पीटा कि उन्हें अस्पताल के ICU में भर्ती कराना पड़ा।

इस घटना के बाद कांग्रेस समर्थकों ने देशव्यापी उन सारे प्रोडक्ट्स के बायकाट का ऐलान किया है जो आमिर एंडोर्स कर रहे हैं। खबर है कि निशाने पर इस बार फिर से Snapdeal एप्प है, जिसे मास लेवल पर डाउन वोट किया जाएगा, फर्क बस इतना है कि पिछली बार ये काम भक्तों ने किया था, इस बार कांग्रेसी करेंगे।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Amresh
About Amresh 98 Articles
What's fake today, will be real tomorrow.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.