लक्स कोज़ी के ‘ग्लो कलेक्शन’ अंडरवियर से युवती के आँख की रोशनी गयी, बैन करने की मांग

घटना को लेकर इलाहाबादियों में रोष व्याप्त है, जिसको लेकर आज चक्का जाम किया गया, और लोगों ने अंडरवियर का बड़ा सा पुतला भी फूंका।

इलाहाबाद: आज तड़के शहर के झूंसी इलाके में एक अजीबोगरीब घटना घटी जिससे पुलिसकर्मियों के होश उड़ गए। हुआ ये कि एक नवयुवक लक्स कोज़ी के ‘ग्लो कलेक्शन’ का अंडरवियर जीन्स के बाहर आधा निकालकर जा रहा था, कि तभी एक नवयुवती की नज़र उसके अंडरवियर की इलास्टिक पर पड़ी, जोकि सूरज से भी ज़्यादा तेज़ चमक रही थी।

Lux Cozi Glo Collection Underwear
जीन्स के ऊपर उभरा अंडरवियर का वही पट्टा, जिसने युवती की आँखों की रौशनी हमेशा के लिए छीन लीं.

उसके ठीक 5 मिनट बाद युवती को कुछ भी दिखाई देना बंद हो गया। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि ऐसा अंडरवियर की ग्लो करने वाली इलास्टिक बैंड से हुआ होगा, जोकि कंपनी द्वारा युवतियों को अपनी ओर दूर से ही आकर्षित करने के लिए डिज़ाइन की गयी है।

इस अंडरवियर के लांच होने से पहले लड़कियों को आकर्षित करने का काम ‘स्प्रे डीयो’ के जरिये किया जाता था, जोकि पास आने पे ही असर करता था, और उससे आपकी काँख में कभी-कभी जलन भी हो जाती थी।

इस घटना को लेकर इलाहाबादियों में काफी रोष व्याप्त है और लक्स कोज़ी के खिलाफ गुस्सा भी, जिसे लेकर शहर के सिविल लाइन्स इलाके में घंटों चक्का जाम किया गया। मांग ये थी कि कंपनी युवती को मुआवजा दे और इस चमकीले अंडरवियर पर तुरंत बैन लगे।

लोगों में इस बात को लेकर गुस्सा था कि इसके विज्ञापन में चमकीले अंडरवियर को मोबाइल फोन की तरह फ्लॉन्ट करते हुए क्यों दिखाया गया है, जबकि एक दूसरी कंपनी तो ‘ये अंदर की बात है’ कहकर अंडरवियर को जीन्स की अंदर ही छुपाने की अपील करती है।

गुस्साए लोगों ने युवक के अंडरवियर की चमकीली इलास्टिक फाड़ के खिंच ली, और उसके कई टुकड़े करके अपने-अपने घर ले गए। सूत्र बताते हैं कि इनका प्रयोग वो अपने घरों में जीरो वाट के बल्ब की जगह करेंगे।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Amresh
About Amresh 98 Articles
What's fake today, will be real tomorrow.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.