बाबा रामदेव ने पेश किया शुद्ध देशी ‘पतंजलि मुर्गा’

शाकाहारियों के लिए आखिरकार एक अच्छी खबर है। बाबा रामदेव ने सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस आयोजित करके शुद्ध देशी पतंजलि मुर्गा पेश किया।

सवांददाता, तीखीमिर्ची।

शाकाहारियों के लिए आखिरकार एक अच्छी खबर है। बाबा रामदेव ने सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस आयोजित करके शुद्ध देशी पतंजलि मुर्गा पेश किया। उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस में बताया की ये पूरी तरह से शुद्ध देशी मुर्गा उन लोगों के लिए बना है, जो पूरी तरह शाकाहारी होने के कारण मुर्गा नहीं खा पाते हैं, सिर्फ लार-टपका के रह जाते हैं।

एक वयस्क 'पतंजलि मुर्गा' बाबा रामदेव द्वारा सिखाई भोग-विद्या का प्रदर्शन करते हुए.
एक वयस्क ‘पतंजलि मुर्गा’ बाबा रामदेव द्वारा सिखाई भोग-विद्या का प्रदर्शन करते हुए.

उन्होंने ने शुद्ध देशी पतंजलि मुर्गा के बारे में बात करते हुए बताया कि लोगों की मानसिकता बन गयी हैं कि विदेशी वस्तु अच्छी होती है। इस मानसिकता को तोड़ने के लिए उन्होंने अपने इस प्रोडक्ट का नाम ‘पतंजलि चिकन’ ना रख कर के ‘पतंजलि मुर्गा’ रखा है।

पतंजलि मुर्गा के बारे में उन्होंने आगे बताया कि ये पूरी तरह से नेचुरल प्रोसेस से बनता है, और 100% शुद्ध हैं। इसमें किसी भी तरह की मिलावट नहीं है, और ये पूरी तरह से देश में ही तैयार होती है।

बाबा ने कहा की ये आम मुर्गा से 100 गुना पौष्टिक है, जो बहुत से विटामिन और प्रोटीन से युक्त है। इसको खाने से बदहजमी और गैस की शिकायत भी दूर  हो जाती हैं। ये शुद्ध देशी पतंजलि मुर्गा जल्द ही पतंजलि स्टोर्स पर उपलब्ध हो जायेंगे।

बाबा के शुद्ध देशी पतंजलि मुर्गा  लांच करते ही भक्तों में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी।

जब एक भक्त से हमारे सवांददाता ने बात की तो उसने पत्रकार पर गुस्सा होते हुए बताया कि, “बाबा ने इसे ठीक होली से कुछ दिन पहले लांच किया है, ताकि होली के अवसर पर लोगों की बदहजमी ठीक रहे और लोग मुर्गा का भी आनंद ले सकें।”

उसका कहना था कि बाबा लोगों का कितना ख्याल रखते हैं, और आपलोग बस ‘काला धन विदेश से कब आएगा’- बोलते रहते हैं। जब हमारे महापुरुष कह कर गए हैं कि जब जो लिखा है वो तभी होगा, तब आप लोग बाबा के पीछे क्यों लगे हुए हैं? अगर आप को जल्दी है तो आप ही जा कर ले आइये!

इधर बाबा का कहना है कि वो जल्द ही भारतीय पतंजलि बैंक खोलने की तैयारी कर रहे हैं।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Shubham
About Shubham 234 Articles
कुछ नहीं से कुछ भी बनाने की कला।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.