नीरव मोदी पर बाबा रामदेव ने कहा- कालाधन बाहर जायेगा तभी तो देश में आयेगा

हमारे सवांददाता ने उनसे पूछा कि 2014 से पहले तो आप बड़ा कालाधन-कालाधन करते रहते थे, आजकल आप उस मुद्दे को छोड़कर पतंजलि और रियलिटी शो को ज्यादा तरजीह दे रहे हैं।

बाबा रामदेव, जो कालाधन विदेश से भारत लाने की बात करने के जनक हैं, आजकल इस बात पर बहुत शांत-शांत रहने लगे हैं। लेकिन हमारे सुस्त सवांददाता ने उन्हें शांत रहने का मौका नहीं दिया, और नीरव मोदी द्वारा 11000 करोड़ रु. घोटाला कर विदेश ले जाने के बाद उनके मुंह में माइक घुसेड़ कर उनसे इस विषय में उनकी राय जान ही ली।

दरअसल हमारे सवांददाता के पास बाबा की कुछ निजी जानकारी और वीडियो है, जिसके कारण बाबा हमेशा हमारे सवांददाता के सवालों का जवाब देने के लिए तैयार हो जाते हैं।

Baba Ramdev and Buffelo
फोटो: बाबा रामदेव के इस जवाब पर एक भैंस की प्रतिक्रिया।

हमारे सवांददाता ने जब उनसे पूछा कि 2014 से पहले तो आप बड़ा कालाधन-कालाधन करते रहते थे, आजकल आप उस मुद्दे को छोड़कर पतंजलि और रियलिटी शो को ज्यादा तरजीह दे रहे हैं। क्या आप नहीं चाहते कि देश में विदेशों से कालाधन वापस आये।

जिस पर बाबा रामदेव ने बात को टालने के क्रम में कहा कि- आपने शायद मोदी जी के मास्टरस्ट्रोक को अभी तक नहीं समझा है। दरअसल मोदी जी ने नीरव मोदी को देश छोड़ कर विदेश जाने का मौका इसलिए दिया ताकि यहाँ का कालाधन वहाँ जा सके, और फिर उसे वो वापस ला सकें। जिससे उन्होंने जो वादा किया था कि वो विदेशों से कालाधन वापस लायेंगे- वो पूरा हो सके।

बाबा रामदेव से ऐसे भारी भरकम जवाब सुनकर हमारे सवांददाता ने उनसे अगला सवाल पूछा कि पहले वो हर योग के दौरान कालाधन की बात कर लिया करते थे, आजकल वो पतंजलि की बात करते है ऐसा क्यों?

इस सवाल पर बाबा ने कहा कि वो लोगों को कुछ नया देना चाहते हैं, इसलिए वो आजकल योग और पतंजलि पर ही फोकस किये हुए हैं।क्योंकि लोग बार-बार कालाधन की चर्चा सुनकर थोड़ा ऊबने लगे थे, तो उनके रिफ्रेशमेंट के लिए टॉपिक को चेंज किया गया। क्योंकि आखिरकार बाबा लोगों और समाज की भलाई के लिए ही तो हैं।

इससे ज्यादा सवाल हमारे सवांददाता बाबा रामदेव से पूछ नहीं पाए, क्योंकि वो किसी रिएलिटी शो के शूटिंग के लिए निकलने वाले थे।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Shubham
About Shubham 223 Articles
कुछ नहीं से कुछ भी बनाने की कला।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*