​यूपी में योगी द्वारा बाँटे जा रहे कंडोम में है छेद, महिलाएँ हुईं गर्भवती

लोगों का मानना है कि कायदे से तो कंडोम कुंवारों को देना चाहिए, क्योंकि सबसे ज्यादा तकलीफ कुँवारे को ही होती है, जब वो दवाई दुकान पर कंडोम लेने जाते हैं।

यूपी में हर रोज़ कुछ ना कुछ होता रहता है। यूपी में हुए विधानसभा चुनाव में भारी बहुमत हासिल कर बनी योगी आदित्यनाथ की सरकार भी अपने रोज़-रोज़ नये फैसले लेकर सब को चौकानें में जैसे महारत हासिल करना चाहती हो। चाहे वो एन्टी-रोमियो स्क्वाड का गठन करना हो, या हाल में ही लिया गया नव-विवाहित जोड़ों को कंडोम बांटने का फैसला, जो सब से अनूठा है।

लोगों की बात करें, तो लोगों का मानना है कि कायदे से तो कंडोम कुंवारों को देना चाहिए, क्योंकि सबसे ज्यादा तकलीफ कुँवारे को ही होती है, जब वो दवाई दुकान पर कंडोम लेने जाते हैं।

वैसे योगी सरकार द्वारा लिये गए इस फैसले की तारीफ हो रही है।

Yogi Adityanath Condom or Python
नवविवाहतों को बांटने के लिए योगीजी खुद कंधे पर कंडोम ले जाते हुए.

लेकिन जो जानकारी अब सामने निकल कर आ रही है वो वाकई चौकानें वाली है। दरसअल जो कंडोम योगी आदित्यनाथ द्वारा बाँटा जा रहा है उसमें छेद है। बताया जा रहा है कि जो कंडोम बाँटा जा रहा है वो चीन से मंगवाया गया है, जिसके कारण ऐसी परेशानी हो रही है।

दरसअल कंडोम में छेद होने का पता तब चला जब बहुत सी महिलाओं ने इसकी शिकायत थाने में दर्ज करवाई। दरसअल योगी आदित्यनाथ द्वारा बाटें गए कंडोम का इस्तेमाल ही किया गया, बावजूद उसके महिलाओं ने पाया कि वो गर्भवती हो रही हैं। इससे उनके चरित्र पर भी पतियों को शक होने लगा था, लेकिन जांच-पड़ताल के बाद पता चला कि कंडोम में ही छेद था।

इस से नाराज़ होकर महिलाओं ने योगी आदित्यनाथ के ख़िलाफ़ प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। हालाँकि अज्ञात सूत्र बताते हैं कि ये योगी आदित्यनाथ की सोची समझी रणनीति का हिस्सा है। क्योंकि योगी आदित्यनाथ चाहते हैं कि नव विवाहित जोड़ा निश्चिंत होकर संभोग का सुख ले, लेकिन उसके बाद छेद वाले कंडोम के महिलाएं गर्भवती हो जाएं, जिससे हिन्दूओं की जनसंख्या में अचानक से बढ़ोतरी हो सके, और उनका हिन्दूराष्ट्र का सपना पूरा हो सके।

हालाँकि इस घटना की बात करें तो पुलिस ने घोटाले के मामले में केस दर्ज कर लिया है, और आगे की कार्यवाही का भरोसा दिलाया है। जिसके बाद महिलाओं ने प्रदर्शन करना बन्द कर दिया।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Shubham
About Shubham 212 Articles
कुछ नहीं से कुछ भी बनाने की कला।

1 Comment

  1. I have noticed you don’t monetize your blog, don’t waste your traffic,
    you can earn additional bucks every month because you’ve got hi quality content.
    If you want to know how to make extra money, search for:
    Mrdalekjd methods for $$$

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*