केजरीवाल को कंगाल करने की साजिश रची बीजेपी और जेठमलानी ने?

राम जेठमलानीपहले बीजेपी में रह चुके हैं, और ऐसा संभव है कि बीजेपी ने केजरीवाल को कंगाल करने के लिए ये नया दांव खेला हो, जिससे उसका रास्ता आसान हो जाय.

नयी दिल्ली: अरुण जेटली मानहानि मामले में बड़ा रायता फ़ैल गया है। झूठमलानी ने 3 करोड़ का लंबा चौड़ा बिल केजरीवाल को थमा दिया है, जिसकी पेमेंट को लेकर केजरीवाल की हर जगह छीछालेदर हो रही है। ऐसे में सवाल उठता है कि झूठमलानी ने गरीब  केजरीवाल का केस लिया ही क्यों।

सूत्रों की माने तो इसका जवाब झूठमलानी के पुराने इतिहास में छिपा है। वो पहले बीजेपी में रह चुके हैं, और ऐसा संभव है कि बीजेपी ने केजरीवाल को कंगाल करने के लिए ये दांव खेला हो, और उनसे ये केस लड़ने को कहा हो।

Kejriwal Jethmalani Lawyer
झूठ्मलानी अपना गेम प्लान शेयर करते हुए.
(फोटो साभार: विकिमेडिया)

दरअसल केस लेते समय झूठमलानि ने 1 रुपये में केस लड़ने का वादा किया था, लेकिन तारीख आते ही वो मुकर गए होंगे,और प्रति सुनवाई 30 लाख माँगने लगे। बीजेपी का प्लान ये रहा होगा कि इतने रुपये केजरीवाल के पास होंगे नहीं, तो वे कंगाल होकर राजनीति छोड़ देंगे, और बीजेपी को आगे चैलेंज करने वाला कोई नहीं बचेगा।

इस साजिश में साथ दिया होगा दिल्ली के LG- बैंगन ने। उन्होंने ही झूठ्मलानी के बिल की कॉपी लकड़बग्गे को लीक करके मीडिया को 1 हफ्ते का मसाला दे दिया होगा, जिससे उनको ढंग की न्यूज़ न दिखाने का एक और बहाना मिल जाय।

खैर, झूठमलानि और विवादों का चोली-दामन का साथ है, ये जग-जाहिर है। लेकिन अगर इन खबरों में ज़रा भी सच्चाई है, तो एक बात साबित होती है- वकील और पुलिस वाले, किसी के सगे नहीं होते!

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Jabra
About Jabra 293 Articles
मेरी गाड़ी बेवकूफों और चाटुकारों से प्रेरणा लेकर चलती है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*