मेरा शोषण हुआ क्योंकि मेरे नाम में ‘गाय’ है – गायकवाड़

शिवसेना के 'चप्पलमार' नेता, जोकि एयर इंडिया कर्मचारी को चप्पल मारने के बाद सुर्ख़ियों में आये थे, ने सहानुभूति बटोरने के लिए अब 'गाय कार्ड' खेल दिया है।

मुम्बई: शिवसेना के ‘चप्पलमार’ नेता, जोकि एयर इंडिया कर्मचारी को चप्पल मारने के बाद सुर्ख़ियों में आये थे, ने सहानुभूति बटोरने के लिए अब ‘गाय कार्ड’ खेल दिया है।

दरअसल एयरलाइन कंपनियों द्वारा उनका बहिष्कार करने के बाद उन्हें यात्रा करने तकलीफ हो रही थी। पहले उन्होंने ‘गरीब कार्ड’ खेलते हुए कहा था कि वो ‘गरीब’ हैं और चार्टर्ड प्लेन से यात्रा नहीं कर सकते, इसलिए उनको बिज़नस क्लास से ही संतोष करना पड़ता है। लेकिन जब लोगों ने उनकी ‘गरीबी’ को सीरियसली नहीं लिया तो उन्होंने आज के देश के सबसे बड़े मुद्दे- गाय के साथ खुद को जोड़ लिया।

Ravindra Gaikwad poster
‘गाय’कवाड के समर्थन में गौरक्षक जगह-जगह ये पोस्टर चस्पा कर रहे हैं.

गायकवाड़ का कहना है कि उनको प्लेन में इसलिए नहीं बैठने दिया गया क्यूंकि उनके नाम में ‘गाय’ है। साथ ही साथ उन्होंने देश भर में कुकुरमुत्तों की तरह उग रहे गौरक्षा दलों से अपील की है कि वो गाय के सम्मान के लिए आवाज उठाएँ और एयरलाइन्स कंपनियों पर हमले बोलें।

उन्होंने अपने आचरण को सही ठहराया और दलील भी दी कि गाय की रक्षा करने के लिए गौरक्षा वाले पीट पीट कर जान ले लेते हैं, मैंने तो बस चप्पल बरसाए हैं।

वैसे अपने देश में दलित, मुस्लिम, राज्य, क्षेत्र, बोली का हवाला देकर खुद को विक्टिम साबित करने का पुराना रिवाज है, लेकिन ये पहला मौक़ा सामने आया है जब किसी ने ‘गाय’ नाम से जुड़ाव को मुद्दा बनाया हो।

वैसे गायों ने गायकवाड़ के इस बयान की कड़ी निंदा की है, और आगाह किया है कि उनका नाम ऐसे चप्पलमार नेताओं के साथ न जोड़ा जाय।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Jabra
About Jabra 303 Articles
मेरी गाड़ी बेवकूफों और चाटुकारों से प्रेरणा लेकर चलती है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*