सपा विवाद ​सुलझा, मुलायम को लेडीज साईकल मिलेगी, अखिलेश को जेंट्स साइकिल

आखिरकार चुनाव आयोग ने ये मामला सुलझा लिया है। चुनाव आयोग के इस फैसले से दोनों गुटों का झगड़ा भी शांत हो जायेगा, और दोनों को साइकिल का ही चुनाव चिह्न मिलेगा।

लखनऊ: सपा का घरेलू विवाद अब थमता नज़र आ रहा है। जिस घरेलू विवाद ने सपा को नेशनल मीडिया पर इतनी जगह दी, वो विवाद सुलझने की ओर बढ़ रहा है।

दरसअल सपा के दंगल में एक दूसरे को निकालने, बाहर करने के बाद अब फिर से विवाद ने फिर जन्म लिया था- चुनाव चिह्न को लेकर।

Samajwadi Party feud - Now resolved after ES allocated different versions of cycles to Mulayam and Akhilesh Cycle
इसकी भी साइकिल, उसकी भी साइकिल। साला लफड़ा ही खल्लास!

इसको लेकर मुलायम गुट और अखिलेश गुट दोनों चुनाव आयोग के पास अपने-अपने दावे लेकर पहुँचे थे। दोनों साइकिल चुनाव चिह्न पर अपना-अपना हक जता रहे थे, जिससे चुनाव आयोग भी सदमे में पड़ गया था कि वो क्या करें!

लेकिन आखिरकार चुनाव आयोग ने ये मामला सुलझा लिया है। चुनाव आयोग के इस फैसले से दोनों गुटों का झगड़ा भी शांत हो जायेगा, और दोनों को साइकिल का ही चुनाव चिह्न मिलेगा।

दरसअल चुनाव आयोग ने अपनी तेज़ बुद्धि का प्रयोग करते हुए एक गुट को लेडीज साइकिल का चुनाव चिह्न, तो दूसरे गुट को जेंट्स साइकिल का चुनाव चिह्न देने का फैसला लिया है।

मुलायम सिंह के नाम के अनरूप ही चुनाव चिह्न में उनको लेडीज साइकिल मिलेगी, क्योंकि उनके नाम में ही मुलायम लगा हुआ है, जबकि अखिलेश को जेंट्स साइकिल मिलेगी, क्योंकि उनके नाम से ‘क्लेश’ का आभास होता है।

अब ये देखने वाली बात होगी कि राजनैतिक फायदे के लिए दोनों अपने-अपने साइकिल का चुनाव चिन्ह मिला के एक साइकिल तो नहीं बना लेते हैं।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Shubham
About Shubham 211 Articles
कुछ नहीं से कुछ भी बनाने की कला।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*