“​सबके लड़के गलती करते हैं, हमारे लड़के ने पाप कर दिया” – मुलायम सिंह

"सच में कलयुग आ गया है, बेटा हमारा सुनने को तैयार नहीं है, कहता है आप बुड्ढे हो गए हैं, सैफई महोत्सव का आनंद लीजिये।" - मुलायम।

लखनऊ: समाजवादी परिवार अब असमाजवादी परिवार की ओर बढ़ रहा है। समाजवादी परिवार की एक-एक घटना भी न्यूज़ चैनलों के लिए किसी ब्रेकिंग न्यूज़ से कम नहीं है, और वो उस न्यूज़ को मिर्च-मसाला लगाकर दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

पहले मुलायम सिंह और शिवपाल यादव ने मिलकर अखिलेश और रामगोपाल यादव को पार्टी से बाहर निकाला, लेकिन कड़े विरोध और घोर हंगामे के चलते उनको वापस से पार्टी में ले लिया गया।

Mulayam Singh Yadav with Lal Krishna Advani - Ladko Se Galti Ho Jati Hai
मार्गदर्शक मंडल:
हमें तो अपनों ने लूटा, गैरों में कहाँ दम था,
हमारी कश्ती वहां डूबी, जहाँ पानी कम था.

फिर अखिलेश और रामगोपाल ने मिल के शिवपाल को पार्टी से निकाल दिया, और मुलायम सिंह को पार्टी का मार्गदर्शक बना दिया। जो स्थान अभी आडवाणी जी को प्राप्त है बीजेपी में, वही स्थान मुलायम सिंह को दे दिया गया सपा में।

अब मुलायम गुट और अखिलेश गुट दोनों चुनाव चिन्ह पर अपनी-अपनी दावेदारी ठोक रहे हैं। खैर ये तो आने वाला वक़्त ही बतायेगा कि चुनाव चिन्ह किसकी होगी, लेकिन उससे पहले हमारे सवांददाता ने मुलायम सिंह से बात की ।

मुलायम सिंह ने रुंधे हुए गले से बताया कि “लड़के हैं, गलती हो जाती है“- ये वाले बयान पर वो आज भी कायम हैं, लेकिन उनके लड़के ने कोई गलती नहीं की है, ‘पाप’ किया है पाप !

आगे मुलायम सिंह ने बताया कि सच में कलयुग आ गया है, बेटा हमारा सुनने को तैयार नहीं है, कहता है आप बुड्ढे हो गए हैं, सैफई महोत्सव का आनंद लीजिये।

वैसे अभी आप बोलते हैं, तो भी लोगों को समझ में कहाँ आता है। लोग कहते हैं कि मुँह से सुपारी निकाल के आपको बात करनी चाहिए।

इतना कहते कहते मुलायम सिंह फूट-फूट के रोने लगे।

खैर बाकी सब बातें उनकी और उनकी पार्टी की बात है, लेकिन अखिलेश की लास्ट वाली बात से हम भी सहमत थे कि मुलायम सिंह को सुपारी निकाल के बात करनी चाहिए, हमें भी उनकी बात समझने में बहुत तकलीफ हुयी।

उम्मीद हैं अभी बहुत से सर्कस बाकी हैं इस समाजवाद में। मज़ेदार खबरों से अपडेट होने के लिए जुड़े रहें हमसे।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Shubham
About Shubham 184 Articles
कुछ नहीं से कुछ भी बनाने की कला।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*