ATM लाइन में खड़े-खड़े स्वेटर बीनने वाली महिलाओं को मिलेगा 26 जनवरी पर सम्मान

क्योंकि सरकार मल्टीटास्किंग पर ज़ोर देना चाहती है, इसलिये वो ऐसी महिलाओं का सम्मान करना चाहती है, जो लाइन में स्वेटर बुनकर देश के विकास में सहभागी बनी हैं.

नोटबंदी के बाद से ही लोगों की लंबी-लंबी लाइनें एटीएम के बाहर लगनी शुरू हो गयी थीं। एटीएम के बाहर इतनी लंबी-लंबी लाइनें होती थी कि लोगों को दो-दो दिन लाइन में ही बिताना पड़ रहा था।

हालांकि धीरे-धीरे ये लाइन कम होने लगी हैं, लेकिन परेशानी फिर भी कायम है।

Hand Kniting Sweater
काम भी, टाइम पास भी.

सरकार ने कैशलेस से काम करने वालों को 1 करोड़ इनाम देने की घोषणा की है* (नियम और शर्तें लागू)। इस बात की न्यूज़ रिपोर्टिंग तो सारे न्यूज़ चैनल ने की, लेकिन सरकार ने उसके साथ-साथ एक और घोषणा की जिसको न्यूज़ चैनल के रिपोर्टरों के बीच किसी ने नही सुना। लेकिन तीखी मिर्ची के चुस्त और फुर्तीले सवांददाताओं के एक्टिव कानों से वो खबर भी नही बच पायी, जिसे सारे मीडिया के लोग सुनने में असफल रहे।

दरसअल सरकार ने प्रेस कांफ्रेंस कर के जब बताया था कि हर हफ्ते एक आदमी को 1 करोड़ का इनाम मिलेगा, जो भी कैशलेस सारा ट्रांजेक्शन करेगा। उसके तुरंत बाद ही सरकार ने बताया कि देशवासियों के एटीएम में लगने के संघर्ष से सरकार कायल हो गयी है। अब वो उन लोगों का सम्मान करेगी जो एटीएम लाइन में सिर्फ खड़े ही नही रहे, बल्कि कुछ काम भी किये।

क्योंकि सरकार मल्टीटास्किंग पर ज़ोर देना चाहती है, इसलिये वो ऐसे प्रतिभावान लोगों का सम्मान करना चाहती है।

इसके लिए सरकार को जो सबसे उपयुक्त लगीं, वो हैं लाइन में खड़े खड़े स्वेटर बीनने वाली महिलायें। सरकार ने उन सभी महिलाओं का सम्मान 26 जनवरी को करने निश्चय किया है जिन्होंने ये काम किया है।

इसके लिए उपयुक्त महिलाओं को अपने डिटेल्स सरकार को 10 जनवरी से पहले भेजना होगा, ताकि सरकार एटीएम के सीसीटीवी कैमरे से ये बहादुरी का काम अपने आँखों से देख सकें, और महिलाओं को 26 जनवरी पर सम्मान दे सकें।

Shubham

Shubham

Senior Editor & Reporter
हमें दूसरों की टांग खींचने में बहुत मज़ा आता है!
Shubham

@sudhanshu_shubh

Thora Cool...Thora Rude....
RT @TeekhiMirchiHi: भारत छोड़ो आंदोलन को बढ़ावा देने जाता हूँ बार-बार विदेश – नरेंद्र मोदी: https://t.co/PwHhqxImjh By: @sudhanshu_shubh ht… - 19 hours ago
Shubham

Discussion

comments

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*