भारत करेगा ‘वायु फ़ुसक बम’ से हमला: राजनाथ सिंह। पाकिस्तान में चिंता का माहौल

राजनाथ सिंह, जो किसी भी घटना पर तुरंत कड़ी निंदा करके अपनी ज़िम्मेवारी पूरी कर लेने के लिए जाने जाते हैं, उनको भी कोई ठोस कदम उठाने लिए सोशल मीडिया और मीडिया ने मज़बूर कर दिया है।

पेशावर: पाकिस्तान के तरफ से भारत पर हुए हमले के बाद दोनों तरफ तनाव का माहौल है।

राजनाथ सिंह, जो किसी भी घटना पर तुरंत कड़ी निंदा करके अपनी ज़िम्मेवारी पूरी कर लेने के लिए जाने जाते हैं,  उनको भी कोई ठोस कदम उठाने लिए सोशल मीडिया और मीडिया ने मज़बूर कर दिया है।

वायु फ़ुसक बम का प्रोटोटाइप, जिसे कानपूर के इन तीन लौंडो ने नवाबगंज में एक गुप्त जगह छिपा के रखा है.
वायु फ़ुसक बम का प्रोटोटाइप, जिसे कानपूर के तीन लौंडो ने नवाबगंज में एक गुप्त जगह छिपा के रखा है.

सोशल मीडिया और मीडिया पर लगातार हो रही आलोचना ने अंततः सरकार को इस बारे में कोई ठोस कदम उठाने के लिए तैयार कर लिया है।

राजनाथ सिंह ने देर रात प्रेस कांफ्रेंस कर के बताया कि वो जल्द ही पाकिस्तान पर हमला करने वाले हैं।

परमाणु बम के बारे में सवाल पूछने पर राजनाथ सिंह ने बताया कि परमाणु बम से भी ख़तरनाक बम, जिसे कानपुर के कुछ लड़कों ने तैयार किया था और वो उसके शुरुआती दौर में थे, वो बम अब पूरी तरह से बन के तैयार है।

राजनाथ सिंह ने बताया कि उनकी बातचीत उन कनपुरिया लौंडों से चल रही है। जैसे ही उनकी डील पूरी होगी, वो उनके द्वारा तैयार किया गया खतनाक ‘वायु फ़ुसक बम’ इस्तेमाल करके पाकिस्तान को पूरी तरह तबाह कर देंगे।

इस घटना के बाद पाकिस्तान में हलचल मची हुई है। पाकिस्तान की अवाम में भय समाया हुआ है।

एक पाकिस्तानी ट्विटर यूजर ने बताया कि उन्हें परमाणु बम से उतना ख़तरा नहीं है, जितना कि कानपुर के लड़कों द्वारा तैयार किये गए ‘वायु फ़ुसक बम’ से हैं।

अब देखना दिलचस्प होगा कि जिस बम का नाम सुन कर ही लोगों में दहशत है, उसका इस्तेमाल होने के बाद क्या होगा!

उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही राजनाथ सिंह कड़ी निंदा वाले इस डील को क्रैक कर लेंगे, और फिर हमले की तैयारी करेंगे।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Shubham
About Shubham 212 Articles
कुछ नहीं से कुछ भी बनाने की कला।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*