शराबबंदी ने बिहार के इस मामूली युवक को बना डाला ‘जेम्स बांड’, जानिये कैसे

शराबबंदी के बाद से ही छपरा जिले के एक युवक की सोच में एक अजीब परिवर्तन आ गया है। उसकी हरकतें अब जेम्स बांड के जैसी हो गयी हैं।

Sanskari James Bond
फोटो: जेम्स बांड बनने के बाद बिहारी युवक ने इस स्टाइल में फोटो खिंचाई।

पटना: बिहार में शराब बंद कर दिया गया है, और इसे सख़्ती से लागू भी करवाया जा रहा है। शराब बंद होने के कारण बहुत से फायदे भी हुए, तो सरकारी खजाने को नुक़सान भी पहुँच रहा है।

लेकिन इस शराबबंदी का एक ऐसा फायदा हम आपको बताने जा रहे हैं, जो आपने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा।

दरसअल शराबबंदी के बाद से ही छपरा जिले के एक युवक की सोच में एक अजीब परिवर्तन आ गया है। अब ये युवा अचरज तरीके से सोचने लगा है कि शराब को बिहार में दूसरें राज्यों से लाकर कैसे पीया जाए। विशेषज्ञ बताते हैं कि इसकी सोच अब जेम्स बांड से भी आधुनिक है।

इसकी विस्तृत जानकारी के लिए हम पहुँचे उस युवक के घर, तो पता चला युवक ने अपना नाम भीमा-राव से जेम्स बॉन्ड रख लिया है। भीमा-राव ने बताया कि जब से बिहार में शराब बंद हो गया, तब से उसे लगने लगा कि उसका दिमाग उस से कुछ और करवाना चाहता है।

इसलिये वो दिमाग लगाने लगा कि शराब को किस तरह अवैध रूप से बिहार में लाया जाए। इसमें वो कुछ बार सफल हुआ, और कई बार असफल हुआ, जिसके कारण जेल की हवा खानी पड़ी।

Bihar Liquor Smuggling
फोटो: शराब की तस्करी में पकडे जाने के बाद अपना नायाब तरीका दिखाते तस्कर।

ताजा उदाहरण के तौर पर आप फोटो में देख सकते हैं किस तरह वह अपने साथियों के साथ जेम्स बांड स्टाइल में शराब की बोतल बाँध कर बिहार आ रहा था, लेकिन पुलिस ने उसे धर-दबोचा। इस बिहारी जेम्स बांड का कहना है कि वो जेल में बैठ कर के अपने दिमाग को चला के कोई नया प्लान बनायेगा, और फिर उसे जेल से निकलने के बाद लागू कर के देखेगा।

अब देखना होगा कि अगली बार इस जेम्स-बॉन्ड (भीमा-राव) की तरकीब काम आती है कि नहीं।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Shubham
About Shubham 210 Articles
कुछ नहीं से कुछ भी बनाने की कला।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*