तो ये था 9000 करोड़ लेकर भागे विजय माल्या का लोन गारंटर..

एक गरीब किसान ने 9000 करोड़ की गारंटी कैसे ले ली, और बैंक वाले मान कैसे गए? तीखी मिर्ची के हाथों महत्वपूर्ण दस्तावेज लगे हैं, जो इस राज से पर्दा उठाते हैं।

हाल ही में मीडिया में बड़ा खुलासा हुआ कि विजय माल्या, जोकि 9000 करोड़ की रकम यहाँ के बैंकों से लोन लेकर भाग गए हैं, उनके लोन का गारंटर एक ‘मनमोहन सिंह’ नाम का किसान है। मनमोहन नाम के एक किसान के दो बैंक खातों को कल ही सीज किया गया है, जिसमें 20000 और 4000 रुपये जमा थे।

इससे पहले कि लोग समझ पाते कि इतने गरीब किसान ने इतनी बड़ी रकम की गारंटी किस शर्त पर ले ली, और बैंक वाले मान कैसे गए, तीखी मिर्ची  के हाथों महत्वपूर्ण दस्तावेज लगे हैं, जो कुछ और ही कहानी बयान करते हैं।

Vijay Mallya Laughing at his guarantor Farmer Robert Vadra
विजय मल्ल्या अपने लोन गारंटर, ‘किसान’ रोबर्ट वाड्रा पर हँसते हुए.

दरअसल लोन लेने से पहले माल्या तत्कालीन प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह से मिले थे, और उनसे गारंटी लेने की अपील की थी। इससे पहले कि मनमोहन सिंह सोनियाजी को फ़ोन करके अनुमति लेते, वहां राहुल गांधी उछल कूद करते आ गए। राहुल ने माल्या को सलाह दी कि किसी ‘किसान’ को गारंटर बना लो। न तो किसी को शक होगा, बन्दा आसानी से मान भी जाएगा, और एक किसान से रिकवरी का तो सवाल भी नहीं उठेगा।

मालया को आईडिया भा गया। जैसे ही उन्हें पता चला कि खुद राहुल के जीजाजी रोबर्ट वाड्रा एक ‘किसान’ हैं, वो झट से लोन वाला फॉर्म लेकर वाड्रा से साइन करवा लाये। लेकिन गलती से फॉर्म पर नाम मनमोहन सिंह का ही रह गया।

इस घटना के बाद खबर मिली है कि देश भर के सारे अमीर व्यापारी मंदिरों के बाहर और ट्रैफिक सिग्नल पर भिखारियों की चिरौरी करते हुए पाये गए हैं, ताकि उनको गारंटर बनाकर मोटी रकम लोन ले सकें, और विदेश भाग कर अय्याशी कर सकें।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Jabra
About Jabra 303 Articles
मेरी गाड़ी बेवकूफों और चाटुकारों से प्रेरणा लेकर चलती है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*