बॉयफ्रेंड ने नहीं करवाया गर्लफ्रेंड का मोबाइल रिचार्ज, थाने में FIR दर्ज

कानपुर में नाटकीय अंदाज़ में गर्लफ्रेंड ने एक FIR दर्ज करवाया गया है, जिसमें आरोपी बॉयफ्रेंड पर मोबाइल रिचार्ज ना कराके मानसिक प्रताड़ना देने का आरोप है।

कानपुर में एक विचित्र घटना देखने को मिली है। यहाँ पर नाटकीय अंदाज़ में गर्लफ्रेंड ने एक FIR दर्ज करवाया गया है, जिसमें आरोपी बॉयफ्रेंड पर मोबाइल रिचार्ज ना कराके मानसिक प्रताड़ना देने का आरोप है।

खबर है कि विभूति (आरोपी बॉयफ्रेंड) और अनीता (FIR दर्ज करवाने वाली गर्लफ्रेंड) का चक्कर (प्रेम-प्रसंग) 2014 से ही चल रहा था।

Kanpur Police arrests man for torturing girlfriend
कानपुर पुलिस मार-मार कर आरोपी विभूति की सुतायी करती हुई.

विभूति हर रोज़ अपनी गर्लफ्रेंड अनीता के मोबाइल पर ₹100 का रिचार्ज करवाता था। लेकिन 20 अप्रैल को अत्यधिक व्यस्त होने के कारण वो रिचार्ज करवाना भूल गया, जिससे उसके रिचार्ज के इंतज़ार में बैठी अनीता को भारी मानसिक उत्पीड़ना झेलनी पड़ी। इसके बाद उसने बड़ा कदम उठा लिया, और स्थानीय थाने पर पहुँच कर अपने बॉयफ्रेंड पर FIR दर्ज करवा दिया।

घटना की जानकारी पुरे कानपुर में फैलते ही महिला मोर्चा ने भी विभूति के खिलाफ मोर्चा खोल दिया, और दबाब में पुलिस को विभूति को गिरफ्तार करना पड़ा।

विभूति के गिरफ्तार होते ही कानपुर के सभी आशिकों ने थाने के आगे घेराव करके जमकर विभूति के समर्थन में नारे लगाने शुरू कर दिए, जिसे मीडिया ने ‘प्रेमिकाद्रोही’ करार कर दिया, और प्राइम टाइम में बहुत से फ़र्ज़ी फ़ोटो और वीडियो विभूति के खिलाफ दिखाए गए।

तीखी मिर्ची  ने जब अनीता की इस बात पर प्रतिक्रिया जाननी चाही, तो अनीता ने बताया की विभूति उसे बहुत प्यार करता है, लेकिन उसने 20 अप्रैल रिचार्ज क्यों नहीं करवाया। इससे उसे मानसिक उत्पीड़ना झेलनी पड़ी, क्योंकि उस दिन उसकी एक सहेली का बर्थडे था, और मोबाइल में बैलेंस ना होने के कारण वो अपनी सहेली को विश नहीं कर पायी।

तीखी मिर्ची  के रिपोर्टर ने जब अनीता से सवाल किया कि 2014 से अब तक जो रोज़ 100 का रिचार्ज होते आया था वो कहाँ गया, तो इस पर अनीता तो चुप हो गयी, लेकिन महिला मोर्चा ने तीखी मिर्ची  को प्रेमिकद्रोही बताकर नारेबाजी शुरू कर दी।

तीखी मिर्ची  के रिपोर्टर ने वहाँ से चुपचाप खिसक कर विभूति के पास जेल पहुँच कर उस से सवाल किया कि उसने उस दिन रिचार्ज क्यों नहीं करवाया, तो विभूति ने कहा कि उस दिन उसका एक्सीडेंट हो गया था, जिसके कारण वो सारा दिन बेहोश अस्पताल में पड़ा हुआ था। लेकिन अगले दिन जैसे ही होश आया, सबसे पहले उसने अनीता का मोबाइल रिचार्ज करवाया, लेकिन तभी पुलिस आ के उसको अस्पताल से गिरफ्तार कर ले गयी।

इधर कानपुर के दिलफेक आशिकों में इस घटना को लेकर रोष उत्पन्न हो गया है। उन्होंने बाइक रैली निकाल कर विभूति का समर्थन किया, और विभूति की जमानत के लिए सभी ने चन्दा जमा कर-कर के जमानत की अर्ज़ी दे दी है। अब ये देखना दिलचस्प होगा कि आखिर इस केस की क्या सुनवाई आती है।

खबर लिखे जाने तक विभूति को जमानत मिल चुकी थी।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Shubham
About Shubham 212 Articles
कुछ नहीं से कुछ भी बनाने की कला।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*