बिहार में शराब बैन होने से मशहूर कल्लन चाचा हुए ख़ुश

ज्ञात हो कि ये वही कल्लन चाचा हैं जिनके बैल ने भी मोदीजी के मैडिसन स्क्वायर वाला भाषण सुनकर 10 लीटर दूध दे दिया था।

बिहार में 1 अप्रैल से देशी शराब (पाऊच) के बैन होने की ख़बर को लोग ‘अप्रैल फूल’ समझ ही रहे थे कि 5 अप्रैल को मुख्यमंत्री नितीश कुमार (लालू यादव के छोटे भाई) ने देशी शराब के साथ-साथ विदेशी शराब (विजय माल्या वाला) को भी पूर्ण रूप से बैन करने का ऐलान कर दिया। ऐलान इतना जोर से किया कि पियक्कड़ों में भूकंप आ गया।

Desi_daru_(Desi_liquor)_with_snacks
शराब बैन के बाद अब ये देसी दारू ख़ास लोगों को ही नसीब होगी.

जहाँ विपक्ष ने इस फैसले को सही ठहराया, वहीं दारूबाजों में आक्रोश देखने को मिला।

बिहार के शहर सिवान में जब हमारे संव्वादाता नें लोगों से बात करने की कोशिश की, तो लोगों ने खुशी के साथ-साथ ज्ञान दे-दे कर अपने ‘मन की बात’ रखी।

शहर के एक नाले के किनारे खड़े ‘कल्लू चाचा’ (नोट: कल्लू चाचा सिर्फ नाम के कल्लू हैं, गोरेपन में वो बॉबी देओल से भी गोरे हैं) ने अपने मूँह में भरे हुए 25 साल वाले विमल पान मसाले को पिच्कारी की तरह थूकते हुए, अपने नाख़ूनों को अपने काले पड़े दाँत पे रगड़ के बताया कि वो शराब बंदी से खुश हैं। लेकिन अगर मुख्यमंत्री नें बीड़ी और तंबाकू को बैन करने की हिम्मत भी की, तो वो ‘फेसबुक’ पे मुख्यमंत्री जी को अनलाईक कर देंगे।

वहीं लालू प्रसाद यादव जी (तेजस्वी यादव के पापा, जो कि अपनी भैंस को ले कर काफी गंभीर रहते हैं, और अपने सभी भाषणों में उसकी बात करते हैं ) नें इस फैसले से ख़ुश हो कर दुबारा कपड़ा फाड़ होली खेली।

शराब बैन पर मोदी समर्थकों का कहना है कि जैसे मोदी जी ‘युनाईटेड स्टेट ऑफ गुजरात’ को ड्राई स्टेट बना कर प्रधानमंत्री बन गए, वैसे ही नितीश कुमार भी प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं।

ज्ञात हो कि हमारे संव्वादाता नें उन लोगों को दूघ-बादाम खाने की सलाह दे दी है।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Roohulwa
About Roohulwa 15 Articles
राजनैतिक ड्रामा में विशेष रुचि, फोटोशोप से प्यार है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*