कानपुर के लौंडो ने तैयार किया भीषण ‘वायु फ़ुसक बम’

नार्थ कोरिया का तानाशाह हाइड्रोजन बम टेस्ट कर के अपने आप को दुनिया का शक्तिशाली देश समझने लगा था, लेकिन ये बात कानपुर के तीन लौंडो को नागावार गुज़री।

कानपुर सवांददाता, तीखी मिर्ची।

नार्थ कोरिया का तानाशाह हाइड्रोजन बम टेस्ट कर के अपने आप को दुनिया का शक्तिशाली देश समझने लगा था, लेकिन ये बात कानपुर के तीन लौंडो (चंटू, बंटू और मोंटू) को नागावार गुज़री, और उन्होंने बना डाला उस से भी भीषण बम, जिसका नाम उन लोगों ने “वायु फ़ुसक बम” रखा है।

हमारे कानपुर सवांददाता ने जब तीनों लौंडो से बात की, तो पता चला कि कुछ दिनों से लगातार अखबार में नार्थ कोरिया की खबर आ रही थी, और जब उन्होंने नार्थ कोरिया के हाइड्रोजन बम बनाने के बारे में सोचा, तो उनके दिमाग का पारा चढ़ गया, और उन तीनों ने बना डाला उससे भी कई गुना शक्तिशाली “वायु फ़ुसक बम”!

वायु फ़ुसक बम का प्रोटोटाइप, जिसे कानपूर के इन तीन लौंडो ने नवाबगंज में एक गुप्त जगह छिपा के रखा है.
वायु फ़ुसक बम का प्रोटोटाइप, जिसे कानपूर के इन तीन लौंडो ने नवाबगंज में एक गुप्त जगह छिपा के रखा है.

“वायु फ़ुसक बम” बनाने का आईडिया कहाँ से आया, इस बारे में उन्होंने कहा कि नार्थ कोरिया के सफल हाइड्रोजन बम परीक्षण देख उन्होंने इतना तो सोच लिया था कि उससे भी ताकतवर बम बनाना है, लेकिन कैसे- वो समझ में नही आ रहा था।

एक दिन वो तीनों दोस्त साथ (चंटू, बंटू और मोंटू) में बैठे थे, कि उनमे से मोंटू ने “आंटी चिप्स” खाते खाते नेचुरल प्रोसेस के माध्यम से गैस रिलीज़ किया, जिसकी तीव्रता अत्यधिक होने के कारण उन्हें वहाँ से उठना ही पड़ा।

बस फिर क्या था! बम बनाने का आईडिया मिल चुका था।

उन्होंने एक बड़ा सा गैस हाउस बना कर मोंटू को आंटी चिप्स खिला-खिला करके पाइप के माध्यम से गैस हाउस को भर लिया है। और वो लोग एक कंटेनर रखते हैं, जिससे जितनी शक्तिशाली मारक क्षमता की डिमांड आती है, उतना वो लोग सप्लाई करते हैं। इन लोगों का दावा है की अगर गैस हाउस किसी देश में गिरा दिया जाए तो वहाँ भीषण तबाही मच जायेगी, और जेनेटिक्स बदलाव होने के कारण आने वाली पीढ़ी पर भी इसका भीषण असर पड़ेगा।

फिलहाल तो वो लोग बहुत कम मात्रा में “वायु फ़ुसक बम” को बेच रहे हैं।

अभी अभी उनलोगों ने गुज्जरों को अपना “वायु फ़ुसक बम” बेचा है।

तीखी मिर्ची ने पिछले रिपोर्ट में आपकोें बताया था कि जाटो को मिले आरक्षण से उत्साहित होकर गुज्जरों ने फिर से आंदोलन शुरू कर दिया है, जिसमे वो लोग जरुरी पड़ने पर कानपुरी लौंडो द्वारा  बनाये गए “वायु फ़ुसक बम” का इस्तेमाल करेंगे।

चंटू, बंटू और मोंटू ने कहा कि अगर कोई उनका बम खरीदना चाहता है, तो 75% डिस्काउंट और 20% कैशबेक ऑफर के साथ उनकी वेबसाइट “हवाहवाईबमछुटक डॉट कॉम” से खरीद सकते हैं।

तीखी मिर्ची फिर मिलेगा चंटू, बंटू और मोंटू से, और आपको बताएगा उनके आगे के प्लान के बारे में।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं
Shubham
About Shubham 212 Articles
कुछ नहीं से कुछ भी बनाने की कला।

1 Comment

1 Trackback / Pingback

  1. लड़की को डेट पर टॉयलेट में बुलाया, ये है वजह

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*