अरविन्द केजरीवाल ने फिर दिया विवादित बयान

आमतौर पर छोटी-छोटी बातों पर कुत्ते-बिल्लियों की तरह लड़ने वाले देशभर के धर्मगुरुओं ने इस प्रसंग पर दुर्लभ एकता दिखाते हुए अरविन्द केजरीवाल का साथ देने का ऐलान किया है।

चुनावों के मौसम में जहां राष्ट्रवादी पार्टियाँ राष्ट्रवाद को मजबूत करने के लिये “घर वापसी” और “बहू लाओ बेटी बचाओ” जैसे कार्यक्रम कर रही हैं, वहीं आम आदमी पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल पर नास्तिक भावनायें आहत करने का गंभीर आरोप लगा है।

अरविन्द केजरीवाल ने यह ताजातरीन विवादित बयान संवाददाताओं से खचाखच भरे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिया

केजरीवाल पर आरोप है कि वो मंदिर और मज़ार पर जाते हैं। पिछले दिनों उनकी गुरुद्वारे की भी एक फोटो लीक हुई थी। केजरीवाल ने हाल ही में बयान दिया था कि वो एक अदृश्य शक्ति में विश्वास करते हैं, और सभी धर्मो का आदर करते हैं।

‘विश्व नास्तिक महासभा’ में इस खबर को लेकर रोष है। आपको बता दें कि नास्तिक लोग भगवान में यकीन नहीं रखते, ऐसे में अलग-अलग धर्मों के भगवानों और खुदाओं का सम्मान और पूजा उनके खिलाफ है।

विश्व नास्तिक महासभा के अध्यक्ष “नाराज रंगीले” का कहना है कि अरविंद केजरीवाल ने मंदिर, मज़ार इत्यादि पर जा कर उनकी ‘नास्तिक भावनाओं’ को आहत किया है। उन्होने तत्काल प्रभाव से अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी की मांग की। मांग पूरी न होने पर उन्होंने देशव्यापी आंदोलन करने की धमकी तक दे डाली।

इसी बीच ‘अखिल भारतीय युवा नास्तिक संगठन’ के कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल के पुतले फूंके और कई जगह पथराव किया। उत्तर प्रदेश के कानपुर में कुछ संवेदनशील इलाकों में पुलिस को एहतियातन कर्फ्यू भी लगाना पड़ा। ‘सेक्युलर पार्टी’ ने कर्फ्यू में ४४ घंटे की ढील की मांग की है।

‘राष्ट्रवादी पार्टी’ के प्रवक्ता अचंभित मात्रा ने इस मौके का फायदा उठाते हुए अरविंद केजरीवाल से इस्तीफे की मांग की है।

पूर्व आईपीएस बीरन कैदी ने ट्वीट कर केजरीवाल को ‘नास्तिक विरोधी’ करार दे दिया है, और साथ ही उम्मीद जताई कि अगले चुनाव में उनकी हार हो। सूत्रों की मानें तो उनको अब भी राष्ट्रवादी पार्टी की मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनने का पूरा भरोसा है। इसी भरोसे के चलते वो सुबह शाम “नमो चालीसा” का पाठ कर रही हैं। हालांकि राष्ट्रवादी पार्टी में अभी सर फुटव्वल का माहौल बना हुआ है, और मामला शांत होने का नाम नहीं ले रहा है।

मीडिया ने इस मसले पर केजरीवाल को आड़े हाथ लिया है। खबर लिखे जाने तक देश के सभी प्रतिष्ठित चैनलों पर केजरीवाल के इस दुःसाहसी हरकत पर इतनी गरमागरम बहस चल रही थी कि मौसम विभाग को ग्रीष्म ऋतु के समय से पहले आने की घोषणा करनी पड़ी। टाइम्स नाउ न्यूज़ चैनल ने अपने ट्विटर अकाउंट से #AppeaserKejriwal हैशटैग यूज़ करते हुए सैकड़ों ट्वीट किये।

देखने वाली बात ये होगी कि केजरीवाल इस विवाद के बाद खुद की सफाई में क्या कहते हैं, और उनकी गिरफ्तारी कब होगी।

Discussion

comments

डिस्क्लेमर: यह एक हास्य-व्यंग्य लेख है और इसके सभी पात्र, घटनाएं अादि काल्पनिक हैं। कृपया इस खबर को सच समझकर व्यर्थ मे अपनी भावनाएं अाहत न करें। अाप भी तीखी मिर्ची ज्वाईन करके अपनी रचनाएं पोस्ट कर सकते हैं

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*